BHOJPURICINEMA.IN

Latest National, International, Mumbai & Suburbs Of Mumbai News Of Political, Sports, Share Market, Crime & Entertainment

अंतरिक्ष की पहली प्रेमकहानी है-लीरा द सोलमेट नाक को छूती है हीरो-हीरोइन की जीभ – अनिल बेदाग –

इंसान में कुछ अनोखा हो, तो वह दुनिया की नज़र में आ जाता है और ऐसे लोगों की बॉलीवुड में भी देर-सवेर एंट्री हो जाती है। यहां हम बात कर रहे हैं अभिनेत्री लीरा कालजेयी की, जो अभिनय के साथ-साथ अपनी लंबी जीभ से भी हैरत में डाल देती हैं। अपनी फिल्म लीरा द सोलमेट को लेकर लीरा कालजयी का कहना है कि जोश और लगन के सहारे आप अपनी सभी ख्वाहिशें पूरी कर सकते हैं। अभिनय की ख्वाहिश मुझे बचपन से थी। पिता सुमनैश और और मां उषा कालजेयी ने सहयोग दिया और आज उन्हीं की बदौलत एक ऐसी फिल्म तैयार हुई, जिसकी मैं लीड एक्ट्रेस हूं। फिल्म के सभी एक्शन और फाइट सीन मैंने खुद किए हैं। लीरा कहती हैं कि यह देश की पहली ऐसी फिल्म है जिसमें हीरो हीरोइन की प्रेमकहानी अंतरिक्ष में चलती है। यह फिल्म 99 प्रतिशत वीएफएक्स पर बनी है।

 

 

कालजयी फिल्म्स द्वारा प्रस्तुत लीरा द सोलमेट एक ऐसी लड़की की कहानी है जो एस्ट्रोनोट है। वह अचानक स्पेस में जाती है और ऐसे प्लेनेट पर पहुंचती है जिसका नाम भी लीरा है और कहानी शुरू होती है। स्पेस का एक लड़का यह साबित करने की कोशिश करता है कि वही उसका सोलमेट है या उसके लिए बना है। लड़का और लड़की इनोसेंट हैं, जो प्यार को नहीं समझ पाते हैं। फिल्म में हीरो-हीरोइन की नोकझोंक चलती रहती है। बता दें कि लीरा के पिता सुमनैश ही फिल्म के निर्माता-निर्देशक और मां उषा ने फिल्म की स्क्रिप्ट और गीत लिखे हैं। सुमनैश कहते हैं कि हमने हीरो के लिए 9000 से भी ज्यादा लड़कों के ऑडीशन लिए। तब जाकर मेहुल अडवाणी के रूप में हीरो का चयन हो पाया। कमाल की बात तो यह है कि फिल्म के हीरो की जीभ भी नाक को छूती है जिसमें किसी तरह के वीएफएक्स का सहारा नहीं लिया गया। हीरो-हीराइन की यही विशेषता फिल्म को खास बनाती है। दुनिया के जाने-माने एस्ट्रोलोजर सुमनैश कहते हैं कि इस फिल्म में दर्शकों को हॉलीवुड की उच्च तकनीक और बॉलीवुड का रोमांस एक साथ देखने को मिलेगा।

Print Friendly, PDF & Email
BHOJPURICINEMA.IN 2014- 2018 Frontier Theme